Sunday, April 11, 2021
HINDI NEWS PORTAL
Home > Samachar > आज भी नहीं निकला, मध्यप्रदेश में राजनीतिक संकट का कोई हल

आज भी नहीं निकला, मध्यप्रदेश में राजनीतिक संकट का कोई हल

मध्यप्रदेश में सिंध्या के कारण जो राजनीतिक संकट पैदा हुआ है, उस का आज भी कोई हल नहीं निकला. सिंध्या ख़ुद तो भाजपा में चले भी गये और राज्य सभा में जाने का अपना रास्ता भी साफ़ कर लिया, लेकिन उन सभी विधायकों के भविष्य का अभी कोई फ़ैसला नहीं हुआ, जिन्होंने सिंध्या के लिए अपनी पार्टी से बगावत की है. मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार रहती है या चुनाव होता है, अभी कहना उचित नहीं लेकिन सिंध्या के साथ बगावत करने वाले सभी विधायकों को भाजपा में सम्मान के साथ शामिल कराना सिंध्या के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है.

सिंध्या को कांग्रेस ने बहुत सर चढ़ा रखा था और ये उसी का नतीजा है, इस प्रकरण से एक बार फिर ये सिद्ध हो गया कि किसी भी इंसान को उसकी किर्याकलाप से अधिक महत्व देने पर वो खुद को संस्था से उपर समझने लगता है और एक दिन अपने और संस्थान दोनों के लिए घाटे का सौदा साबित होता है. उधर मध्यप्रदेश के गवर्नर और पूर्व भाजपा नेता लाल जी टंडन स्पीकर को लगातार चिठ्ठी लिख रहे हैं कि जल्द फलोर टेस्ट हो, लेकिन ये मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में पहुँच चुका है, इस लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना पड़ेगा.