Saturday, September 19, 2020
HINDI NEWS PORTAL
Home > Samachar > किसानों के लिए ‘ फसल सहायता योजना ‘ में निबंधन की तिथि बढ़ाई गई

किसानों के लिए ‘ फसल सहायता योजना ‘ में निबंधन की तिथि बढ़ाई गई

समस्तीपुर केंद्रीय सहकारिता बैंक के अध्यक्ष विनोद कुमार राय ने कहा है कि ‘फसल सहायता योजना’ में किसान 15.08.20 तक ऑनलाइन निबंधन करा सकेंगे। उन्होंने कहा कि खरीफ के लिए निबंधन कराने की अंतिम तिथि 31 जुलाई ही थी , जिसे विस्तारित कर 15 अगस्त 2020 तक कर दिया गया है. उन्होंने सभी पैक्स अध्यक्षों /प्रबंधको से फसल सहायता योजना में किसानो का रजिस्ट्रेशन कराने हेतु अपेक्षित पहल करने की अपील किया.

समस्तीपुर सहकारिता बैंक में सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए एक महत्वपूर्ण बैठक में सहकारिता बैंक के अध्यक्ष विनोद कुमार राय ने किसानों के बीच इस के प्रचार-प्रसार पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि यह योजना किसानों के हित में है। बैठक मे अब तक किसानों द्वारा फसल सहायता योजना के लिए कराए गए निबंधन की समीक्षा की गई। बैंक अध्यक्ष ने इस बैठक में फसल सहायता योजना के बारे में विस्तृत चर्चा की। बताया कि इस योजना के लिए निबंधन की अंतिम तिथि 15 अगस्त है। विनोद कुमार राय ने कहा कि किसान निबंधन मे परेशानी होने पर उनसे या सहकारिता पदाधिकारी तथा पंचायत के पैक्स अध्यक्ष/प्रबंधक से संपर्क कर सकते हैं।

इस योजना का लाभ रैयत और गैर रैयत दोनों किसानों उठा सकते हैं। इसमें किसानों से कोई प्रीमियम नहीं ली जाएगी। समस्तीपुर केन्द्रीय सहकारिता बैंक के अध्यक्ष विनोद कुमार राय ने बताया कि बिहार में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर विगत 02 वर्ष पूर्व बिहार राज्य फसल सहायता योजना लागू किया गया है। इस योजना में शामिल होने के लिए इच्छुक किसानों को प्रत्येक मौसम (खरीफ और रबी) में सहकारिता विभाग के विशेष पोर्टल पर अपना ऑनलाइन निबंधन कराना अनिवार्य है।

इस निबंधन के लिए रैयत श्रेणी के किसानों को अपना पहचान पत्र फोटो, बैंक पासबुक, आधार कार्ड, आवास का प्रमाण पत्र, भूस्वामी प्रमाण पत्र, फसल बुआई का स्वपोषण पत्र देना होगा। वहीं गैर रैयत श्रेणी के किसानों को अपना पहचान पत्र फोटो बैंक पासबुक आधार कार्ड आवास प्रमाण पत्र तथा दूसरे के जमीन पर खेती करने संबंधित स्वघोषणा पत्र सहित बुआई की गई फसल की विवरणी जो किसान सलाहकार /वार्ड सदस्य के प्रति हस्ताक्षरित हो देना होगा। सहायता राशि नियमानुसार देय है।

banner-tear-oct
Share