Saturday, February 27, 2021
HINDI NEWS PORTAL
Home > Samachar > गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर नहीं रहे ।

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर नहीं रहे ।

मनोहर पर्रिकर लम्बे समय से बीमार चल रहे थे , उनका इलाज दिल्ली और गोवा में चल रहा था और वो अपनी मौत के क़रीब होने बाद भी मुख्यमंत्री का दायित्व निभाते रहे । भाजपा भी जानती थी कि परिकर के रहने से भाजपा इकाई में टूट फूट नहीं होगी , इस लिए मुख्यमंत्री बनाए रखा वरना उनका स्वास्थ ऐसा नहीं था कि वो ये दायित्व निभाते । आखिर कार अपने राजनीतिक जीवन के शीर्ष पर पहुँच का दुनिया तेयाग दिया । उन्होंने काफी राजनीतिक सफलताएं हासिल कीं और कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाले गोवा में उन्होंने भाजपा का झंडा लहरा दिया । परिकर अपने निर्णय और अपनी सादगी के लिए हमेशा याद किये जायेंगे ।

परिकर का रिश्ता संघ से स्कूल के दिनों ही में जुड़ गया था और वो संघ प्रचारक बन गए थे , 1994 विधान सभा का चुनाव जीत कर अपनी राजनीतिक जीवन का आरंभ किया । वो चार बार गोवा के मुख्यमंत्री बने और 2014 में जब भाजपा केंद्र में आई तो उन्हें रक्षामंत्री बनाया और वो इस दायित्व को भी निभाया लेकिन जब गोवा में उनकी ज़रूरत हुई तो वो फिर से गोवा के मुख्यमंत्री बने । अपनी सादगी के कारण लोगों में हमेशा चर्चा में रहे , भाजपा में रहने के बाद भी जब भाजपा बीफ पर पाबंदी लगा रही थी तो उन्होंने इस का न केवल विरोध किया बल्कि साफ साफ कहा कि गोवा में बीफ पर कोई पाबंदी नहीं होगी और अगर बीफ की कमी हुई तो दूसरे राज्य से आयात भी किया जाएगा । उनके इस बयान के बाद भाजपा की बड़ी किरकिरी भी हुई लेकिन वो अपने निर्णय पर अटल रहे ।